हर नई ख़बर आपके लिए

Search
Close this search box.

पटना – रांची – पटना के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का उद्घाटन 27 जून को

हजारीबाग रेलवे स्टेशन पर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का इंतज़ार करते बच्चों की खुशहाली प्रतिक्रिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जून को करेंगे उद्घाटन, आठ कोच वाली इस ट्रेन का 28 जून से होगा नियमित परिचालन।

पटना- रांची – पटना के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का उद्घाटन 27 जून को होगा। प्रधानमंत्री सुबह 10:30 बजे हरी झंडी दिखाएंगे। पहले दिन यह उद्घाटन स्पेशल के तौर पर रांची से चलेगी। 8 कोच वाली इस ट्रेन का नियमित परिचालन 28 जून से होगा। पटना जंक्शन से पहले से सुबह 6:10 बजे चल रही 12365 पटना-रांची जनशताब्दी एक्सप्रेस के खुलने के 50 मिनट बाद सुबह 7 बजे 22349 वंदे भारत एक्सप्रेस चलेगी। यानी, सुबह में 50 मिनट के अंतराल पर पटना से रांची के लिए दोनों सुपरफास्ट ट्रेनें चलेंगी।

✓। वंदे भारत ट्रेन के समय सारणी का विरोध, जानिए क्यों ❓


एक रिपोर्ट के अनुसार बिहार दैनिक यात्री संघ समेत कई संगठनों ने इसपर विरोध जताते हुए वंदे भारत एक्सप्रेस को सुबह में रांची और दोपहर बाद पटना से चलाने की मांग की है। बिहार दैनिक यात्री संघ के अध्यक्ष वीरेंद्र प्रसाद शर्मा और महासचिव शोएब कुरैशी ने वंदे भारत को रांची से सुबह में खोलने की मांग रेलवे बोर्ड से की है। उन्होंने कहा कि सुबह और शाम दोनों समय दोनों ओर से सुपरफास्ट ट्रेन की सुविधा मिलेगी।

वहीं, कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कमल नोपानी ने कहा कि अगर पटना से सुबह में वंदे भारत चलेगी तो जनशताब्दी पिटेगी, जिससे उस ट्रेन के यात्रियों को भी परेशानी होगी।

✓ अब रेलवे का क्या तर्क है, आईए जानें…

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन हजारीबाग रेलवे स्टेशन में पहले ट्रायल के दिन

*दोपहर बाद 5 घंटे तक रांची से पटना के लिए एक भी ट्रेन नहीं।

रांची से दोपहर 2:25 बजे पटना के लिए जनशताब्दी

है। ट्रेन प्रतिदिन चलती है। किराया कम होने से लोग

जनशताब्दी को तवज्जो देंगे। साथ ही ट्रेन का स्टॉपेज

ज्यादा होने से लोग प्राथमिकता देंगे। इसलिए वंदे भारत

की टाइमिंग शाम 4:15 बजे की गई। दोपहर से 5 घंटे

तक पटना के लिए कोई ट्रेन नहीं है।*

जनशताब्दी एक्सप्रेस और हटिया-इस्लामपुर एक्सप्रेस के बीच लगभग 5 घंटे तक पटना के लिए कोई ट्रेन नहीं है। इस कारण बीच में शाम 4:15 बजे वंदे भारत चलाने का निर्णय लिया गया है। इससे रांची में पढ़ने वाले छात्रों के साथ सामान्य यात्रियों को पटना आने में आसानी होगी। यही नहीं, रांची के खादगढ़ा बस स्टैंड से रोज शाम में 40-45 बसें पटना के लिए खुलती हैं। इसमें करीब 2 हजार यात्री सफर करते हैं। रेलवे का मानना है कि पटना से रांची आनेवाले डेली यात्रियों के लिए वंदे भारत अच्छा विकल्प साबित होगी।



✓ अब आईए जानें वंदे भारत ट्रेन की खासियत क्या क्या है…

• ऑटोमेटिक स्लाइट डोर हैं। ऑटोमेटिक फुट रेस्ट भी है, जो स्टेशन पर बाहर निकलता है।

• सीटें पैसेंजर्स की सुविधा के लिए हर सीट के नीचे चार्जिंग प्वाइंट्स भी दिए गए हैं।

• पैसेंजर्स के एंटरटेनमेंट का भी पूरा ध्यान रखा गया है। 32 इंच की टीवी स्क्रीन भी है।

• पैसेंजर्स की सेफ्टी के लिए फायर सेंसर, जीपीएस और कैमरे भी लगाए गए हैं।

• कवच नाम का सेफ्टी फीचर भी लगा है, जो इसे किसी दूसरे ट्रेन की टक्कर से बचाता है।

• दिव्यांग का पूरा ध्यान रखते हुए सीट हैंडल्स पर ब्रेल लिपि में भी सीट नंबर लिखा है।

• 180 डिग्री रोटेट किया जा सकता है। एक्जीक्यूटिव क्लास कोच के चेयर को ।

• 160 किमी तक की स्पीड पर दौड़ने वाली ट्रेन की टॉप स्पीड 180 किमी तक है।

• 52 सेकेंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ती है वंदे भारत ट्रेन।

Leave a Comment

Recent Post

Live Cricket Update

You May Like This